Share This Book

वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra in Hindi Download Free PDF

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

नाम / Nameवृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra
लेखक / Author
आकार / Size2.2 MB
कुल पृष्ठ / Pages148
Last UpdatedMarch 5, 2022
भाषा / Language Hindi
श्रेणी / Category

कामसूत्र महर्षि वात्स्यायन द्वारा रचित भारत का एक प्राचीन कामशास्त्र (en:Sexology) ग्रंथ है। यह विश्व की प्रथम यौन संहिता है जिसमें यौन प्रेम के मनोशारीरिक सिद्धान्तों तथा प्रयोग की विस्तृत व्याख्या एवं विवेचना की गई है। अर्थ के क्षेत्र में जो स्थान कौटिल्य के अर्थशास्त्र का है, काम के क्षेत्र में वही स्थान कामसूत्र का है।

अधिकृत प्रमाण के अभाव में महर्षि वात्स्यायन का काल निर्धारण नहीं हो पाया है। परन्तु अनेक विद्वानों तथा शोधकर्ताओं के अनुसार महर्षि ने अपने विश्वविख्यात ग्रन्थ कामसूत्र की रचना ईसा की तृतीय शताब्दी के मध्य में की होगी। तदनुसार विगत सत्रह शताब्दियों से कामसूत्र का वर्चस्व समस्त संसार में छाया रहा है और आज भी कायम है। संसार की हर भाषा में इस ग्रन्थ का अनुवाद हो चुका है। इसके अनेक भाष्य एवं संस्करण भी प्रकाशित हो चुके हैं, वैसे इस ग्रन्थ के जयमंगला भाष्य को ही प्रामाणिक माना गया है। कोई दो सौ वर्ष पूर्व प्रसिद्ध भाषाविद सर रिचर्ड एफ़ बर्टन (Sir Richard F. Burton) ने जब ब्रिटेन में इसका अंग्रेज़ी अनुवाद करवाया तो चारों ओर तहलका मच गया और इसकी एक-एक प्रति 100 से 150 पौंड तक में बिकी। अरब के विख्यात कामशास्त्र ‘सुगन्धित बाग’ (Perfumed Garden) पर भी इस ग्रन्थ की अमिट छाप है।

महर्षि के कामसूत्र ने न केवल दाम्पत्य जीवन का शृंगार किया है वरन कला, शिल्पकला एवं साहित्य को भी सम्पदित किया है। राजस्थान की दुर्लभ यौन चित्रकारी तथा खजुराहो, कोणार्क आदि की जीवन्त शिल्पकला भी कामसूत्र से अनुप्राणित है। रीतिकालीन कवियों ने कामसूत्र की मनोहारी झांकियां प्रस्तुत की हैं तो गीत गोविन्द के गायक जयदेव ने अपनी लघु पुस्तिका ‘रतिमंजरी’ में कामसूत्र का सार संक्षेप प्रस्तुत कर अपने काव्य कौशल का अद्भुत परिचय दिया है।

रचना की दृष्टि से कामसूत्र कौटिल्य के 'अर्थशास्त्र' के समान है—चुस्त, गम्भीर, अल्पकाय होने पर भी विपुल अर्थ से मण्डित। दोनों की शैली समान ही है— सूत्रात्मक। रचना के काल में भले ही अन्तर है, अर्थशास्त्र मौर्यकाल का और कामूसूत्र गुप्तकाल का है।

Download Kamasutra PDF in Hindi | Download Kamsutra PDF for Free | Kamsutra Read Online for Free | Vatsayayana Kamsutra Read and Downlaod | कामसूत्र हिन्दी पीडीएफ़ मे डाउनलोड करें | कामसूत्र हिन्दी पीडीएफ़ | कामसूत्र डाउनलोड करें | वात्सायायन का कामसूत्र पढ़ें व डाउनलोड करें |

Download वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra PDF Book Free,वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra PDF Book Download kare Hindi me , वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra Kitab padhe online , Read Online वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra Book Free, वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra किताब डाउनलोड करें , वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra Book review, वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra Review in Hindi , वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra PDF Download in English Book, Download PDF Books of   वात्स्यायन / Vatsayayan   Free,   वात्स्यायन / Vatsayayan   ki वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra PDF Book Download Kare, वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra Novel PDF Download Free, वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra उपन्यास PDF Download Free, वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra Novel in Hindi, वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra PDF Google Drive Link, वृहद वात्स्यायन कामसूत्र / Vrihad Vatsayayan Kamsutra Book Telegram

Download
Buy Book from Amazon
5/5 - (52 votes)
हमारे Telegram चैनल से जुड़े। To Get Latest Notification!

Related Books

Shares