Share This Book

तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal PDF Download Free Hindi Books by Shivendra Suryavanshi (Ring of Atlantis Book 4)

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

नाम / Nameतिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal
लेखक / Author
आकार / Size5.9 MB
कुल पृष्ठ / Pages342
Last UpdatedApril 23, 2022
भाषा / Language Hindi
श्रेणी / Category, ,

कल्पना- एक ऐसा शब्द जो अपने अंदर संपूर्ण ब्रह्मांड को समेटे है। इस ब्रह्मांड में लहराता हुआ सागर भी है और सितारों से भरा आकाश भी। इस ब्रह्मांड में प्रकृति के सुंदर रंग भी हैं और समस्त जीवों की असीम भावनाएं भी। तो क्यों ना इस कल्पना की कूची से, अपने जीवन को एक नया रंग देकर देखें। यकीन मानिये, वह अहसास बहुत ही खूबसूरत होगा।

मायाजाल- एक ऐसा शब्द, जो हमारी आँखों के सामने रहस्यों से भरी पहेलियों का एक संसार खड़ा कर देता है। जहां एक ओर गणितीय उलझनें होती हैं, तो वहीं दूसरी ओर कुछ ऐसी वैचारिक पहेलियां, जिनमें उलझना अधिकांशतः लोगों को पसंद होता है। पर क्या हो? जब ऐसी उलझनों और पहेलियों के मध्य आपका जीवन दाँव पर लगा हो। अर्थात अगर आप इन उलझनों को पार ना कर पायें, तो आप हमेशा-हमेशा के लिये इस मायाजाल में कैद हो जाएं। इस पुस्तक में कुछ मनुष्यों के सामने, कुछ ऐसी ही मुसीबतें खड़ी हैं।

जरा सोचकर देखिये-
1) क्या हो अगर हमें किसी फूल की पहली पंखुड़ी को पहचानना पड़े?
2) क्या हो अगर आप किसी विशाल कछुए की पीठ पर रखे पिंजरे में बंद हो जाएं और वह आपको लेकर समुद्र की गहराई में चला जाए?
3) क्या हो जब आप छोटे होकर चींटियों के संसार में पहुंच जाएं? और चींटियां आप पर आक्रमण कर दें।
4) क्या हो जब स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी जीवित होकर आप पर हमला कर दे?


5) क्या हो जब किसान खेत में बारिश की बाट जोह रहा हो? और आपको देवराज इंद्र की भूमिका निभानी हो।
6) क्या हो जब आपके सामने पृथ्वी की रोटेशन रुक जाये? क्या आप पृथ्वी को गति दे सकते है?
7) क्या हो जब आपका टकराव 4 ऋतुओं से हो जाये?
8) क्या हो जब आप किसी वृक्ष में समाकर, किसी ऐसी दुनिया में पहुंच जाएं? जो स्वप्न से भी परे हो।
9) क्या हो जब आपको पेगासस और ड्रैगन जैसे जीवों का निर्माण करना पड़े?
10) क्या हो जब दूसरी आकाशगंगा के शक्तिशाली जीव आपके सामने खड़े हों? और उन पर आपकी पृथ्वी का कोई नियम ना लागू होता हो?

ऐसे ही अनगिनत सवालो का जवाब है यह पुस्तक। तो आइये इन्हें जानने के लिये पढ़ते हैं, रहस्य, रोमांच, तिलिस्म और साहसिक कार्यों से भरपूर, एक ऐसा हिंदी कथानक, जो विज्ञान के इस युग में भी ईश्वरीय शक्ति का अहसास दिलाता है-

“तिलिस्मा- अविश्वसनीय मायाजाल”


Download तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal PDF Book Free,तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal PDF Book Download kare Hindi me , तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal Kitab padhe online , Read Online तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal Book Free, तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal किताब डाउनलोड करें , तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal Book review, तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal Review in Hindi , तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal PDF Download in English Book, Download PDF Books of   शिवेन्द्र सूर्यवंशी / Shivendra Suryavanshi   Free,   शिवेन्द्र सूर्यवंशी / Shivendra Suryavanshi   ki तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal PDF Book Download Kare, तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal Novel PDF Download Free, तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal उपन्यास PDF Download Free, तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal Novel in Hindi, तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal PDF Google Drive Link, तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal Book Telegram

Download
Buy Book from Amazon
5/5 - (53 votes)

यह पुस्तक आपको कैसी लगी? कृप्या इसे रेटिंग दें

हमारे Telegram चैनल से जुड़े। To Get Latest Notification!

Related Books

Shares