Share This Book

राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja PDF Download Free Hindi Books by Suryakant Tripathi

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

नाम / Name 📥राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja
लेखक / Author 🖊️
आकार / Size 0.007 MB
कुल पृष्ठ / Pages 📖9
Last UpdatedApril 16, 2022
भाषा / Language Hindi
श्रेणी / Category, ,

'राम की शक्ति पूजा' (ram ki shakti puja) काव्य को निराला जी ने 23 अक्टूबर, 1936 में पूरा किया था. इलाहाबाद से प्रकाशित दैनिक समाचारपत्र 'भारत' में पहली बार उसी वर्ष 26 अक्टूबर को इस कविता का प्रकाशन हुआ था. Nirala Ki Shakti Puja: सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला' (Suryakant Tripathi Nirala) को 'महाप्राण' भी कहा जाता है.

पुस्तक का कुछ अंश

राम की शक्तिपूजा का एक अंश-
रवि हुआ अस्त, ज्योति के पत्र पर लिखा
अमर रह गया राम-रावण का अपराजेय समर।
आज का तीक्ष्ण शरविधृतक्षिप्रकर, वेगप्रखर,
शतशेल सम्वरणशील, नील नभगर्जित स्वर,
प्रतिपल परिवर्तित व्यूह भेद कौशल समूह
राक्षस विरुद्ध प्रत्यूह, क्रुद्ध कपि विषम हूह,
विच्छुरित वह्नि राजीवनयन हतलक्ष्य बाण,
लोहित लोचन रावण मदमोचन महीयान,
राघव लाघव रावण वारणगत युग्म प्रहर,
उद्धत लंकापति मर्दित कपि दलबल विस्तर,
अनिमेष राम विश्वजिद्दिव्य शरभंग भाव,
विद्धांगबद्ध कोदण्ड मुष्टि खर रुधिर स्राव,
रावण प्रहार दुर्वार विकल वानर दलबल,
मुर्छित सुग्रीवांगद भीषण गवाक्ष गय नल,
वारित सौमित्र भल्लपति अगणित मल्ल रोध,
गर्जित प्रलयाब्धि क्षुब्ध हनुमत् केवल प्रबोध,
उद्गीरित वह्नि भीम पर्वत कपि चतुःप्रहर,
जानकी भीरू उर आशा भर, रावण सम्वर।
लौटे युग दल। राक्षस पदतल पृथ्वी टलमल,
बिंध महोल्लास से बार बार आकाश विकल।
वानर वाहिनी खिन्न, लख निज पति चरणचिह्न
चल रही शिविर की ओर स्थविरदल ज्यों विभिन्न।

'राम की शक्तिपूजा' की कुछ अन्तिम पंक्तियाँ देखिए-

"साधु, साधु, साधक धीर, धर्म-धन धन्य राम !"
कह, लिया भगवती ने राघव का हस्त थाम।
देखा राम ने, सामने श्री दुर्गा, भास्वर
वामपद असुर स्कन्ध पर, रहा दक्षिण हरि पर।
ज्योतिर्मय रूप, हस्त दश विविध अस्त्र सज्जित,
मन्द स्मित मुख, लख हुई विश्व की श्री लज्जित।
हैं दक्षिण में लक्ष्मी, सरस्वती वाम भाग,
दक्षिण गणेश, कार्तिक बायें रणरंग राग,
मस्तक पर शंकर! पदपद्मों पर श्रद्धाभर
श्री राघव हुए प्रणत मन्द स्वरवन्दन कर।

“होगी जय, होगी जय, हे पुरूषोत्तम नवीन।”
कह महाशक्ति राम के वदन में हुई लीन।

Download राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja PDF Book Free,राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja PDF Book Download kare Hindi me , राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja Kitab padhe online , Read Online राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja Book Free, राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja किताब डाउनलोड करें , राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja Book review, राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja Review in Hindi , राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja PDF Download in English Book, Download PDF Books of   सूर्यकांत त्रिपाठी निराला / Suryakant Tripathi   Free,   सूर्यकांत त्रिपाठी निराला / Suryakant Tripathi   ki राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja PDF Book Download Kare, राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja Novel PDF Download Free, राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja उपन्यास PDF Download Free, राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja Novel in Hindi, राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja PDF Google Drive Link, राम की शक्त्ति पूजा / Ram Ki Shakti Pooja Book Telegram

Download
Buy Book from Amazon
4.9/5 - (58 votes)
हमारे चैनल से जुड़े। To Get Latest Books Notification!

Related Books

Shares