Share This Book

दौलत की दीवानी / Daulat ki deewani by James Hadley Chase Download Free PDF

5f1ea85529739.php

इससे पूर्व कि मैं आपको अपनी तथा ईव के संबंधों की कहानी सुनाना आरंभ करूं-मैं ही संक्षेप में आपको वे घटनाएं सुनाना चाहता हूं, जो मेरे और ईव की पहली मुलाकात के दौरान घटित हुई थीं। अपनी शिपिंग क्लर्क की मामूली नौकरी को छोड देने के कारण जो असाधारण परिवर्तन मेरे जीवन में आए थे, वे अगर न आए होते तो ईव से मेरी मुलाकात न हो पाती और न ही मुझे उस दौर से गुजरना पडता, जो आखिर में मेरे जीवन को तबाह कर देने का कारण बना था।
यद्यपि ईव को देखे हुए आज मुझे पूरे दो साल का अरसा हो चुका है, लेकिन आज भी उसके ख्याल मात्र से ही मुझे कई वितृष्णापूर्ण बातें याद आने लगती हैं। मुझे उन दिनों उसकी चाहत में तडपना याद आने लगता है। कुंठा और संत्रास का वह आलम याद आने लगता है, जो उन दिनों मुझे ईव के साथ बांधे रखता था हालांकि उन दिनों मुझे अपना सारा ध्यान और पूरी क्षमता अपने काम-धंधे में लगानी चाहिए था।
इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि अब मैं क्या करता हूं। नौ साल पहले जब मुझे यह अहसास हो गया था कि मैं बेकार की एक मृगतृष्णा के पीछे भागता फिर रहा था, तो मैं….

5/5 - (1 vote)
हमारे Telegram चैनल से जुड़े। To Get Latest Notification!

Related Books

Shares